होम / कैटेगरी : पहेलियाँ

काली है पर काग....

काली है पर काग नहीं,
लम्बी है पर नाग नहीं,
बल कहती है ढोर नहीं,
बांधते है पर डोर नहीं ||

काले वन की...

काले वन की रानी है,
लाल पानी पीती है||

बीमार नहीं रहती...

बीमार नहीं रहती
फिर भी कहती है गोली |
बच्चे,बूढ़े डर जाते,
सुन इसकी बोली ||

एक पहेली...

एक पहेली मै बुझाऊँ,
सिर को काट नमक छिडकाऊ ||

चार ड्राइवर...

चार ड्राइवर एक सवारी,
उसके पीछे जनता भारी ||

मै मरू मै कटु...

मै मरू मै कटु,
तुम्हे क्यों आंसू आये ||

हरी डंडी लाल कमान...

हरी डंडी लाल कमान,
तोबा,तोबा करे इंसान ||

तीन अक्षर का मेरा नाम...

तीन अक्षर का मेरा नाम,
उल्टा - सीधा एक सामान ||

सदा धरती...

सदा धरती पर चले
होये न कभी उदास ||

तीन अक्षर का मेरा नाम...

तीन अक्षर का मेरा नाम,
आदि कटे तोह चार |
कैसे हो तुम मै जानू,
बोलो तुम सोच - विचार ||

चार रनिया है और एक है राजा...

चार रनिया है और एक है राजा,
हर एक काम मै उनका अपना साझा ||

ऐसा शब्द लिखिए....

ऐसा शब्द लिखिए जिससे,
फूल, मिठाई, फल बन जाये ।|

एक छोटा - सा बन्दर...

एक छोटा - सा बन्दर,
जो उछले पानी के अंदर ।।

बच्चे भी कहते है मामा....

बच्चे भी कहते है मामा,
बूढ़े भी कहते है मामा ।
दीदी भी कहती है मामा,
बोलो कोन से मामा ।।

बेशक न हो हाथ...

बेशक न हो हाथ मै हाथ,
जीता है वह आपके साथ ।।

कमर बांध कोने...

कमर बांध कोने मै पड़ी,
बड़ी सबेरे अब है खड़ी ।।

हरी टोपी लाल..

हरी टोपी लाल दुशाला,
पेट मै है मोती की माला ।।

© 2020-2021 sad-shayari | संपर्क करें
Best Sad Shayari in hindi | Facebook Status and Love Sad Shayari in Hindi