होम / कैटेगरी : सलीम

पैदा जो हौसलों में हसरत...

पैदा जो हौसलों में हसरत न कर सके,
जूनून के खिलाफ वगाबत न कर सके,
घर की जरूरतों ने मुसाफिर बना दिया,
हम तो एक लम्हा किसी से मोहब्बत न कर सके ||

paida_jo_hausla_1.jpg

© 2020-2021 sad-shayari | संपर्क करें
Best Sad Shayari in hindi | Facebook Status and Love Sad Shayari in Hindi